हाई सिक्योरिटी जेल का डीआईजी ने किया निरीक्षण:जानी समस्या, वीडियो कांफ्रेंस से पेशी कराने के दिए आदेश

Breaking News, Inspection DIJ

हाई सिक्योरिटी जेल का डीआईजी ने किया निरीक्षण:जानी समस्या, वीडियो कांफ्रेंस से पेशी कराने के दिए आदेश

प्रदेश की एकमात्र हाई सिक्योरिटी जेल का शुक्रवार को डीआईजी कारागार रेंज जोधपुर-बीकानेर राजपाल सिंह ने वार्षिक निरीक्षण किया। उन्होंने बंदियों एवं स्टाफ की सम्पर्क सभा लेकर उनसे उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी ली गई। इस मौके पर जेल अधीक्षक पारस जांगिड़ सहित जेल स्टाफ मौजूद रहा।

जेल अधीक्षक पारस जांगिड़ ने बताया कि भूपेन्द्र कुमार दक महानिदेशक पुलिस, कारागार राजस्थान द्वारा जारी स्थायी आदेश की पालना में डीआईजी जेल राजपाल सिंह ने हाई सिक्योरिटी जेल का वार्षिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के समय 132 बंदी तथा लगभग सौ का स्टाफ उपस्थित रहा। उन्होंने निरीक्षण के दौरान जेल भवन, बाहरी सुरक्षा, बंदियों पर नियंत्रण, सुरक्षा उपकरणों तथा आवश्यक हथियारों की उपलब्धता पर गंभीरता से अवलोकन किया। भोजन की गुणवत्ता एवं पानी की पर्याप्तता के बारे में जानकारी भी ली।

वीसी के जरिए पेशी कराने के दिए आदेश

जांगिड़ ने बताया कि डीआईजी ने बंदी पुस्तकालय में उपलब्ध पुस्तकों व बंदियों को पुस्तक वितरण प्रक्रिया देखी। बंदियों से पुस्तक वितरण प्रक्रिया के बाद उनके व्यवहार में आए सकारात्मक बदलाव के बारे में पूछा। सभी बंदियों के मास्क पहने होने पर उनकी कोविड -19 के प्रति जागरूकता की सराहना की। डीआईजी ने बंदियों की न्यायालय पेशी में आ रही बाधाओं के निराकरण हेतु जिला पुलिस अधीक्षक से सम्पर्क करने की सलाह दी। साथ ही कोर्ट पेशियां वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से करवाना सुनिश्चित करने का आदेश दिया। कारागृह भवनों में आवश्यक मरम्मत तथा नव निर्माण के लिए प्रस्ताव मुख्यालय को भिजवाने के निर्देश दिए। उन्होंने जेल अधीक्षक को स्थानीय प्रशासनिक, पुलिस तथा न्यायिक अधिकारियों के सम्पर्क रहने का सुझाव दिया।

गार्ड ऑफ ऑनर दिया

हाई सिक्योरिटी जेल पहुंचने पर डीआईजी को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। साथ ही जेलर रघुवीर प्रसाद वर्मा, लोकोज्ज्वल सिंह तथा हेमराज वैष्णव द्वारा उन्हें गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया गया। इस अवसर पर जयसिंह कम्पनी कमाण्डर आरएसी, अशोक कुमार सहायक प्रशासनिक अधिकारी, भागीरथ चौधरी वरिष्ठ सहायक, नरेंद्र पाल सिंघल चिकित्साधिकारी तथा परस राम चीफ हैड वार्डर उपस्थित रहे।