डेयरी कार्मिकों को चिरंजीवी योजना के तहत मिलेगी सुविधाएं

अब अजमेर डेयरी कार्मिको एवं ठेका श्रमिको को चिकित्सा सुविधाएँ मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के अन्तर्गत दी जाएगी संघ की सदस्य दुग्ध समितियों द्वारा प्राईवेट दूध बेचने पर 500 रूपये से लेकर 10000 रूपये तक पेनल्टी लगाई जायेगी अजमेर डेयरी को NPDD योजना के अन्तर्गत वर्ष 2022-23 में भारत सरकार द्वारा 13 करोड़ 15 लाख रूपये के बल्क मिल्क कूलर, AMCU एवं मिल्को स्क्रीन मशीने 60% प्रतिशत अनुदान पर मिलेगी" गत 14 अक्टूबर, 2022 को अजमेर जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ के संचालक मण्डल की बैठक में सर्वप्रथम माननीय मुख्यमंत्री जी का दूध अनुदान 2 रूपये से 5 रूपये करने "शुद्ध के लिए युद्ध अभियान" एवं छात्रो के लिए मिड-डे-मिल- बाल गोपाल योजना प्रारम्भ करने पर आभार व्यक्त किया गया। बैठक में संघ के कार्मिकों, संविदाकर्मियों, ठेका श्रमिक, सचिवों एवं समस्त पशुपालको के लिए चिकित्सा सुविधा हेतु मुख्यमंत्री चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत युद्ध स्तर पर कार्ड बनवायें जाएगें। इस हेतु संघ स्तर पर एवं समिति स्तर पर विशेष कैम्प संघ द्वारा जिला प्रशासन के सहयोग से आयोजित किए जाएंगे। वर्तमान में 80% दुग्ध उत्पादक सदस्य इस योजना में सम्मिलित है। इसी प्रकार संघ के कार्मिक संविदाकर्मी, ठेका श्रमिक भी इस योजना से लाभान्वित हो रहे है, क्योंकि उपरोक्त में से जिनको 2 रूपये किलों के गेहूं उपलब्ध हो रहे हैं उनको अलग से चिरजीवी योजना का कार्ड बनवाने की जरूरत नहीं है शेष सदस्यों को 1 माह के भीतर इस योजना में लाने का प्रयास किया जाएगा।बैठक में इस बात पर गहनचिंता व्यक्त की गई की देश में अजमेर डेयरी द्वारा सर्वाधिक 56 रू. प्रति लीटर दूध का क्रय मूल्य देने पर भी कुछ समितियों द्वारा प्राईवेट व्यापारियों को दूध बेचा जा रहा है जिससे संघ के संकलन पर विपरित प्रभाव पड़ रहा है, दूध के विपणन में 70,000 लीटर की वृद्धि होने के कारण संघ को टोंक, चित्तौड़गढ़ एवं उदयपुर आदि जिला दुग्ध संघो से लगभग 1 लाख लीटर दूध खरीदना पड़ रहा है। इससे संघ पर आर्थिक भार बढ़ रहा है। अतः संचालक मण्डल ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया की प्राईवेट दूध देने वाली समितियों पर निम्नानुसार पैनल्टी लगाई जाएगी। जुर्माना राशि 50 लीटर तक 500 रू. 100 लीटर तक 1000 रू. 200 लीटर तक 2000 रू. 300 लीटर तक 3000 रू. 400 लीटर तक 4000 रू. 500 लीटर तक 5000 रू. एवं 1000 लीटर या अधिक होने पर 10000 रूपये तक उपरोक्त पेनल्टी के अतिरिक्त समितियों को 15 दिन का नोटिस दिया जाएगा की वह प्राईवेट दूध बेचना तत्काल प्रभाव से बंद करे। उपरोक्त आदेश की पालना नहीं करने पर आगामी संचालक मण्डल की बैठक में को-ऑपरेटिव एक्ट में प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए कार्यवाही की जाएगी। जिसमें सदस्यता समाप्ति भी हो सकती है। इसी प्रकार " शुद्ध के लिये युद्ध अभियान" सफल बनाने के लिए अजमेर संघ द्वारा दूध उत्पादक अथवा सदस्य समिति द्वारा मिलावट करने एवं प्राईवेट बेचने का सूचना देने पर 1100/- रूपये तक ईनाम दिया जाएगा यह राशि राज्य सरकार घोषित 51,000 /- रूपये की राशि के अतिरिक्त दी जाएगी। इसके साथ ही यह भी निर्णय लिया की संचालक मण्डल सदस्य अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण करके इस व्यवस्था में सहयोग करेंगे। बैठक में रिजके के बीज के वितरण पर चर्चा की गई यह तथ्य सामने आया है की लगभग 290 क्विंटल बीज का वितरण किया जा चुका है। अतः समितियों से इसकी मांग मंगवा ली जाये यदि आवश्यक हो तो रिज़के का बीज मांग के अनुसार और मंगवा लिया जायेसंचालक मण्डल की बैठक में आगामी वित्तिय वर्ष के बजट की स्वीकृति दी गई। जिसमें प्रथम 6 माह में पशुपालको को प्रति लीटर 56 /- रूपये एवं अंतिम 6 माह में 53/- रूपये प्रति लीटर की दर से भुगतान करने का प्रावधान किया गया। अगले वित्त वर्ष के बजट में लगभग 1200 करोड़ रूपये का टर्नऑवर होने का अनुमान है। बैठक में आगामी 23 अक्टूबर, 2022 को जवाहर रंगमंच पर आयोजित होने वाली आमसभा में रखे जाने वाले विषयो पर विस्तार से चर्चा की गई एवं उनका अनुमोदन किया गया। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि सेक्स सोर्टेड सीमन जो महेसाणा से मंगाया गया है इसकी समाप्ति पर भविष्य में NDDB द्वारा राजस्थान पशुधन विकासबोर्ड के माध्यम से सैक्स सोर्टेड सीमन संघ द्वारा सदस्यों को उपलब्ध करवाया जाएगा. जो कि निःशुल्क होगा। बैठक में संघ में लम्बित सिविल कार्यों को आर.सी.डी.एफ द्वारा शीघ्र शुरू करवाने, नये प्लांट के लम्बित कार्यों को IDMC द्वारा शीघ्र करवाने का निर्णय लिया गया। संघ में भविष्य में लगने वाले सोलर प्लांट को NDDB के माध्यम से ही पूर्ण करवाया जाएगा। अजमेर जिला दुग्ध इसी प्रकार लम्पी बीमारी की रोकथाम हेतु संघ एवं जिला प्रशासन द्वारा किए गये विभिन्न प्रयासो का संचालक मण्डल द्वारा आभार व्यक्त किया गया ।

डेयरी कार्मिकों को चिरंजीवी योजना के तहत मिलेगी सुविधाएं