60.42 करोड़ की लागत से शहर की पांच सड़कों का होगा सुधार

अजमेर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर की प्रमुख पांच सड़कों को चौड़ीकरण का कार्य किया जा रहा है। 60.42 करोड़ की लागत से सड़कों की रिकारपेटिंग, डिवाइडर और ड्रेनेज सहित विभिन्न कार्य किए जा रहे हैं। दीपावली तक शहवासियों को इसकी सौगात मिलने जा रही है। उल्लेखनीय है कि जिला कलक्टर एवं अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड अजमेर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री प्रकाश राजपुरोहित और नगर निगम आयुक्त एवं अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड अजमेर के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. खुशाल यादव के निर्देशन में शहर में बढ़ते यातायात को दबाव को कम करने के उद्देश्य से कार्य योजना तैयार की गई है। जिसके तहत पुष्कर रोड स्थित मित्तल अस्पताल के सामने लगभग 600 मीटर लंबाई में डीबीएम का कार्य करते हुए सड़क के किनारे इन्टर लॉकिंग का कार्य किया गया है। इसी प्रकार गौरव पथ पर देवनारायण मंदिर के पीछे शेष रही सडक को जोडते हुए पुलिया को चौडा किया जा चुका है। इसी प्रकार सीने मॉल के सामने बॉक्स कलवर्ड का कार्य प्रगतिरत है। जयपुर रोड फोर लेन से किया जा रहा है सिक्स लेन स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय तिराहा से बस स्टैंड अंबेडकर सर्किल तक सड़क चौड़ीकरण कार्य तेज गति से प्रगतिरत है। 23.49 करोड की लागत से 5.04 किलोमीटर सडक को फोर लेन से सिक्स लेन किया जा रहा है। जयपुर रोड पर बनाई जा रही सर्विस लेन के लिए डीबीएम का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। आईजी ऑफिस के बाहर पार्किंग निर्माण के लिए इन्टर लॉकिंग ब्लॉक लगाने की तैयारी चल रही है। उल्लेखनीय है कि एमडीएस तिराहा से sअंबेडकर सर्किल तक सड़क सिक्स लेने होने के बाद यातायात ना केबल सुगम होगा बल्कि सेशन कोर्ट के बाहर एवं बस स्टैंड के सामने जाम से छुटकारा मिलेगा। जयपुर रोड स्थित यूथ होस्टल के सामने रोड वाइडिंग के तहत 2 किलोमीटर तक डीबीएम का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। इन्टर लॉकिंग ब्लॉक लगाने के लिए सीसी रोड़ का कार्य भी पूर्ण कर लिया गया है। उल्लेखनीय है कि एमडीएस तिराहा से अंबेडकर सर्किल तक सड़क को फोर लेन से सिक्स लेन का कार्य तेज गति से आगे बढ़ रहा है। इस मार्ग पर 4.5 किलोमीटर डिवाइडर का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। सड़क के किनारे-किनारे 1800 मीटर नाली का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। इसी प्रकार सड़क चौड़ीकरण के दौरान 5.04 किलोमीटर क्षेत्र में 15 पुलिया आ रही हैं। पुलिया चौड़ीकरण का कार्य प्रगतिरत है। आनासागर सर्क्यूलर रोड पर मिलेगा सुगम यातायात शहर में बढ़ते यातायात दबाव को कम करने के लिए आनासागर सर्क्यूलर रोड वाया महावीर सर्किल, आनासागर पुलिस चौकी, रीजनल कॉलेज, वैशाली पेट्रोल पंप, बजरंगढ़ सर्किल और नौसर घाटी लिंक रोड के लिए 16.93 करोड़ की लागत से कार्य किए जा रहे हैं। आनासागर सर्क्लर रोड प्रोजेक्ट के तहत 9.8 किमी सिक्स लेन में कारपेटिंग करते हुए उपलब्ध भूमि के अनुसार सड़क का चौड़ीकरण किया जाएगा। 6.6 किमी पर डिवाइडर लगाए जाएंगे। इसी प्रकार सड़क के दोनों ओर इंटरलोकिंग फुटपाथ का निर्माण किया जाएगा। रीनजल कॉलेज तिराहा से राणा हॉस्पिटल तक सडक के एक तरफ ड्रेन का कार्य किया जा रहा है। इन्टर लॉकिंग शॉल्डर के लिए पीएसबी और पीसीसी का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। माकडवाली रोड को किया जा रहा है सिक्स लेन वैशाली नगर स्थित माकडवाली रोड पर 9.65 करोड़ की लागत से सड़क को फोर लेन से सिक्स लेन का कार्य प्रगतिरत है। माकड़वाली रोड को सिक्स लेन किया जा रहा है। इस सड़क पर 2 किलोमीटर क्षेत्र में जीएसबी एवं डब्ल्यूएम का कार्य लगभग पूर्ण कर लिया गया है। ड्रेन एवं कलवर्ट का कार्य प्रगतिरत है। लगभग तीन किलोमीटर सड़क चौड़ीकरण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। वैशली नगर रोड : एक किलोमीटर तक किया डामरीकरण वैशाली नगर पेट्रोल पंप के पीछे रॉयल इनफिल्ड शो रूम से केशल रॉयल भवन तक एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी कार्यालय से ममता मिष्ठान भंडार मुख्य सड़क तक फोर लेन, डिवाइडर, ड्रेनेज, एवं साइड में इन्टरलोकिंग ब्लॉक्स का कार्य आरंभ कर दिया गया है। 5.63 करोड़ लागत से सड़क की रिकारपेटिंग एवं मध्य से दोनों ओर 4 व 5 मीटर चौड़ाई बढ़ाई जा रही है। सड़क के मध्य डिवाइडर का निर्माण किया गया है। सडक के दोनों ओर नालियों का निर्माण किया जा रहा है। इससे रोड़ पर आने वाला पानी ढाल के जरिये नालियों में जाएगा। इसके कारण रोड़ पर पानी भरने की समस्या समाप्त होगी। सड़क के दोनों ओर इंटरलॉकिंग ब्लॉक्स लगाकर फुटपाथ बनाए जा रहे हैं। 1 किलोमीटर तक डामरीकरण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। शास्त्री नगर रोड शास्त्रीनगर पुलिस चौकी से जवाहर रंगमंच, बजरंगढ़ सर्किल, पुरानी चौपाटी, सावित्री स्कूल होते हुए अम्बेडकर सर्किल तक सड़क और साइड इन्टर लोकिंग ब्लॉक का कार्य प्रस्तावित है। 4.72 करोड़ की लागत से लगभग 4.1 किमी में क्षतिग्रस्त सड़कों की पुन: रिकारपेटिंग की जाएगी। सड़क के दोनों ओर ड्रेनेज की मरम्मत कर फेरोकवर से कवर किया जाएगा। सड़क के दोनो ओर फुटपाथ का वर्तमान में कुछ हिस्सा क्षतिग्रस्त है एवं कुछ हिस्सा कच्चा बना हुआ है, जिसका निर्माण किया जाना है। इसी प्रकार सावित्री कॉलेज के पास पुलिया की चौड़ाई कम है जिसे चार मीटर बढ़ाई जानी है।

60.42 करोड़ की लागत से शहर की पांच सड़कों का होगा सुधार